Feb 10, 2022

Betnovate N and Betnovate C cream: use and side effects

Both Betnovate creams are used to treat the inflammation which can be psoriasis. N is for Neomycin which is an antibiotic. C stand for Clotrimazole which is an Antifungal. So, this way multiple types of skin problems are cured with Betnovate.


Betamethasone (a type of Steroid) is common on both and this is a strong Steroid. Dermatologists do not suggest it for more than 2 weeks as this has serious side effects. Also, this cream must not be applied on soft skin like face. There she has said that when people stop using Betamethasone then problems occur. She has suggested using Cutisoft (salt: Hydrocortisone) which is mild.

Dr Surbhi has also suggested using Cutisoft when you want to stop using Betnovate cream. Like alcohol, Betamethasone is addictive and stopping it can cause problems in your skin. So, try with a milder steroid.


This article is a note to myself.


Photo Credit: FavoritePlus


Jan 8, 2022

Reading about aloud क्या बोलकर पढ़ने से कोई फायदा है?

बोलकर पढ़ने के कई फायदे है. मुझे तो छाती का कुछ एक्सरसाइज करना पड़ता है, इसलिए फायदा लगता है. लेकिन असल फायदे ये है:

  1. याद रखने में सहायक। 
  2. जिस आईडिया की बात हो रही है लिखित में,बोलकर पढ़ना, उसे समझने में सहायक 
  3. सामाजिक सम्बन्ध मजबूत होते है. बच्चे को पढ़कर सुनना अच्छा होता है. आपके और बच्चे के बीच सम्बन्ध बनता है. बड़ो के लिए भी फायदेमंद. 
  4. बोलकर पढ़ना मनोरंजक भी है. दो लोग यदि बोलकर पेपर पढ़े तो दोनों का मनोरंजन और बातचीत का बहाना बनेगा. 

 


Read in details here in English

4 Reasons Why Reading Out Loud Is Actually Good For You
 

Oct 16, 2021

Movie "Free Guy" on Hotstar+ and your real life are connected

"Guy" is The Hero in The Movie "Free Guy" is as if he is in the ISIS or Taliban state and people around him are treating him as allowed by the ISIS head or Taliban head but he opposes the world. People tell him fake and corrupt. If he believes in their surrounding then he is like a video game character who is unreal.

If you are in India and could see everything BJP and RSS (+SIS India) have created and doing here in India then you are the "Guy" here.

BJP and RSS can infect you with infections and inject you with poisons. Poison can a slow poison or of any kind but police would not help. It will act as if nothing is happening and you are mad. If you resist then they will scold you, mistreat you. Later it can threaten you as well. But, Police would not act against BJP and Rashtriya Swayamsevak Sangh. This is the situation especially in Bihar. Managing various accidents are common things.


#FreeGuy #Hotstar


 

Oct 9, 2021

दर्शन करो भाजपा के गुंडों का

भाजपा के गुंडों के दर्शन आसानी से नहीं होते, क्योंकि वो बोल के काम नहीं करते. ये एक वीडियो मिला जिसमे उस गुंडों का व्यबहार वैसा है जैसा मैंने महसूस किया है.

बीजेपी के बारे में तो कई साल से लिख रहा हूँ. कभी सपोर्ट में लिखता था. सीधे तौर पे राजनितिक पोस्ट नहीं करता था फिर भी मिल जटगा. एक पोस्ट जब मैंने BJP को चंदा दिया और सदस्यता ग्रहण की 2014 के पहले वो भी मिलना चाहिए. क्या जाने कब क्या गायब हो जाये बीजेपी आईटी सेल कुछ भी कर लेता है. बाद में जब पता चला की मैं राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के चंगुल में बचपन से रहा हूँ, जो बहुत पीछे से वार कर रहे थे और अब कुछ खुल के (फिर भी एक दिवार पीछे से) वार कर रहे है तो मैं स्पष्ट लिखने लगा. उसमे समय लगा फिर धीरे धीरे साफ़ होता गया की RSS और बीजेपी क्या है, कैसे करती है.

ये वीडियो और उनके लोगो से मेरा कोई लेना देना नहीं। लेकिन जितना मैं जनता हूँ, ये बीजेपी वाले लोग या उसके ट्रेनिंग वाले लोग जैसे ही है. भाजपा वाले लोग जलील करके बोलते है. बताते है की देखो तुम्हारा कोई इज़्ज़त नहीं. फिर भी न मने और उसके इसारे पे काम नहीं किया या वव्यबहार नहीं किया तो वैसा करते है. और बोल देते है अब कोई इज़्ज़त नहीं है तुम्हारी. फिर लोग मान लेते है. मानने का कारन कई हो सकता है. मसलन - अब कोई मुझे बचा नहीं सकता, कैसे बच्चू ? कौन है ये लोग !!(वो बोल के थोड़े ही आते है की हम आरएसएस के मनुवादी द्वारा संचालित है. वो तो किसी बहाने से हमला करते है. ) या सच में बेचारा हिन् भावना से ग्रसित हो मान लेता है की उसका कोई बजूद नहीं। सिस्टम और पुलिस इस काम में बड़द करता है. भारतीय पुलिस क तो जानते ही जो.

देखो कैसे कुछ गुंडे एक औरत का चूची दबा रहे हैं अंत में बता दिया की लो तुम्हारा इज़्ज़त उतर गया. मतलब की आगे से अब पाने स्वाभिमान या अन्य का बहाना मत बनाना. कोई कंपास न रहे. 


इसमें गाड़ी चलने वाला आदमी भी कुछ अलग ही लग रहा है. जैसे जान के लाया हो.

Sep 10, 2021

How much to believe in Share Buyback?

Shares Buyback - Does it work for investors?



"the data indicates that of around 70 buybacks in FY19, 75 per cent have under-performed Nifty 50 and 60 per cent have under performed Nifty 500."

Further, 45 per cent have given negative returns. A good example is McLeod Russel which, in FY19, announced a buyback of 4.35 per cent of its shares is down by 90%.

It is fashionable for few companies to announce a buyback when prices go low to boost the share price. But, few does not mean to fulfil that.
PC Jewellers has announced a buyback but could not fulfil when Banks has not given NOC.

So, do not rush to buy stocks when you see share buyback news. It may work for intraday traders and BTST traders but not for everyone. As a retail investor, look at fundamental of stocks more than anything else. Buybacks, promoters buy etc are just add little weightage to many many criteria you should look before you initiate a buy call.


In bull market, buybacks and small buy of shares by promoters happen just to boost stocks price by Chor promoters.

Read: Why all stock buybacks are not a buy signal